FUTURE PENSION PROGRAMME AND PEOPLE’S MINDSET

PFRDA said : Only 10 Lakh employees coverd, people’s mindset need to changed

ये कोई ऐसा रुपया/पैसा नहीं है जिसमे लोगो को इन्वेस्ट करना ही पड़ेगा,पर Pension fund regulatory and development authority(PFRDA) के मुताबिक कुछ वयक्तियो एवं कॉरपोरेट्स के मानसिकता, NATIONAL PENSION SYSTEM को कम निर्धारित ऑप्शन या भविष्य के लिए अधिक उपयोगी नहीं मानती है। उदाहरण के लिए, कुछ 7000 कॉर्पोरेट्स कम्पनी पूरे देश में है जिन्होंने PFRDA स्कीम के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करवा रखा है,पर उसमे से सिर्फ 10 लाख ही कर्मचारी है जो NATIONAL PENSION SYSTEM प्रोग्राम के अंतर्गत पंजीकृत है।

SUPRATIM BANDYOPADHYAY जो आमरण सदस्य है PFRDA के, उन्होंने कहा की,हमारे देश में कई लाख व्यक्तिगत कॉर्पोरेट है जिसमे कई लाख कर्मचारी काम करते है। मगर सिर्फ यही 7000 कंपनी के कर्मचारी है जो NATIONAL PENSION SYSTEM के अंतर्गत आते है। यह बहुत ही कम संख्या है और इसमें सुधार करने की जरुरत है। हमने लोगो के मानसिकता में कई बाधा देखी है, जो उन्हें इस प्रोग्राम से जुड़ने से रोकती है।
Pension fund regulatory and development authority(PFRDA) जो अभी वर्तमान में पेंशन जागरूकता कम्पैन को पुरे देश में फैलाने की प्रक्रिया में लगी हुई है, जिन्हे आदेश है की वे 5 लाख नए NPS SUBSCRIBER और अटल पेंशन योजना के तहत 75 लाख नए SUBSCRIBERS को मार्च 2020 तक, इस प्रोग्राम के तहत शामिल करे।


फिलहाल NPS के पास 3.25 करोड़ SUBSCRIBER की नीव है(जिसमे से 4 लाख करोड़ अंडर इन्वेस्टमेंट है जो दिसंबर में हुई है) जिसमे केंद्र और राज्य के कर्मचारी(66 लाख) , केंद्र और राज्य के स्वायत्ता विभाग,कॉर्पोरेट्स,NRIs(6000) एवं व्यक्ति भी शामिल है।
अटल पेंशन योजना में अब कुल मिलाकर 2 करोड़ subscribers की नीव है- जिसमे जयादातर लोग असंगठित क्षेत्र से है। जिसमे श्रमिक,किसान,रोज मजदूरी पर काम करने वाले कर्मचारी शामिल है।

ALSO READ: UPCOMING WHATSAPP UPDATES IN 2020

SUPRATIM BANDYOPADHYAY के मुताबिक यह पेंशन स्कीम फिलहाल के लिए पूरे देश के लिए एक हिस्सा बनना है और NPS अभी सिर्फ एक छोटे स्तर पर व्यक्तियों और कोर्पोरटर्स को शामिल कर रही है। जबकि एक बहुत बड़ी जनसंख्या में छोटे, माधयम और बहुत छोटे उद्धयम और कई हज़ार start-ups अभी इस पेंशन बाजार के हिस्सेदार बनना बाकि है।
फिलहाल PFRDA एक योजना बनाने में लगी हुई है जिससे वे सभी कंपनी के प्रय्तेक HR और सार्वजानिक विज्ञापन के जरिये अपनी पहुंच बना सके।

“हम में से कई ऐसे है जो RETIREMENT और बूढ़े होने के बारे में नहीं सोचते है पर सच्चाई यह है की हमारी इनकम(पैसा) एक दिन रुक जाएगी। एक शोध के मुताबिक जाना गया की, एक औसतन,भारतीय RETIREMENT के बाद सिर्फ 17 से 18 वर्ष ही अपनी जिन्दगी जी पाते है। पर दुखद है की जयादातर लोग अपने पैसे बचाना के बारे में 45-50 के सालो में शुरू करते है। यही मानसिकता को बदलना है और पैसे खरच करने से पहले उसे बचाने के बारे में सोचना है। “

THANK YOU…

5 thoughts on “FUTURE PENSION PROGRAMME AND PEOPLE’S MINDSET

  • Pingback:IT SECTOR AND U.S-IRAN TENSION - societykarma

  • Pingback:TWO WAYS FOR GETTING SSL CERTIFICATE FREE - societykarma

  • Pingback:ROBERT KIYOSAKI NEW BOOK FAKE REVIEWS - societykarma

  • May 10, 2020 at 10:16 pm
    Permalink

    I not to mention my friends have already been looking at the best key points located on your web blog and so all of the sudden I got an awful suspicion I had not thanked the web blog owner for them. All of the people became certainly glad to study them and already have seriously been taking advantage of those things. Appreciate your being very thoughtful and then for deciding on this kind of useful areas millions of individuals are really desirous to be aware of. My sincere regret for not expressing gratitude to you sooner.

    Reply
  • May 14, 2020 at 1:55 am
    Permalink

    I wish to show my admiration for your generosity giving support to persons who should have guidance on this important concern. Your real dedication to passing the solution all around ended up being particularly powerful and has regularly permitted associates like me to arrive at their dreams. The important guidelines entails a great deal to me and substantially more to my peers. Thanks a ton; from all of us.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *