JNU INCIDENT: DELHI UNIVERSITY STUDENTS SUPPORT JNUSU

कई हज़ार दिल्ली विशवविधालय के विद्यार्थी, जे.एन.यू में हुए घटना विरोध में आज शिक्षको और विद्यार्थो के साथ सहयोग मे नजर आये, जहाँ रविवार को जे.एन.यू हॉस्टल में कई विद्यार्थियों को एक माक्स(mask) पहने समूह ने भयभाव हमला किया ! और स्टूडेंट्स ने यह भी मांग की गयी की C.AA-NRC-NPR को भी जल्दी ख़तम किया जाये।
जे.एन.यू में हुए इस घटना के बाद विद्यार्थियों ने न्याय की मांग भी की है और केंद सरकार ने वाईस-चांसलर को पद से निलंबित करने का, ऐसा कोई भी संकेत नहीं दिया है,जिसके लिए जे.एन.यू के विद्याथी मांग कर रहे है। छात्रों का मानना है की यह घटना कैंपस में मजबूत सुरक्षा के न होने से हुई है जिसमे जे.एन.यू V.C पूर्ण रूप से जिम्मेदार है।

रजिस्ट्रशन के प्रक्रिया में बढ़ाव :-
सरकार ने अपने बयान में कहा है की करीब 3300 विद्याथी है जो आने वाले शीत सेमेस्टर(WINTER SEMESTER ) के लिए,रजिस्ट्रशन करवाने के लीये तैयार है,यह जे.एन.यू के पूरे विद्यार्थी के करीब आधे जनसँख्या है। परीक्षा की तारीख को आने वाले सत्र के लिए आगे बढ़ाकर 12 JANUARY दिया गया है और इस सत्र कोई भी परीक्षा नहीं होगी।

ALSO READ: Supreme Court Advocate Raise Voice Against C.A.A & NRC

दिल्ली पुलिस अभी भी अपने बयान पर है की दो छात्र संगठन में मुठभेड़ हुई है जबकि जे.एन.यू छात्र संगठन ने ट्ववीट करके बताया है की”जो भी रविवार को हुआ वह छात्रों के बीच कोई मुठभेड़ का परिणाम नहीं है। ” यह एक भयावह आक्रमण है,एक हमला है,एक आतंक्की तरीका है जिसमे विद्यार्थियों और शिक्षकों को निशाना बनाया गया है, जब वह शांतिपूर्ण तरीके से मार्च निकल रहे थे। बुधवार तक, पुलिस के पास हमले करने वाले मास्क अट्टकेर में से किसी की भी जानकारी उपलबध नहीं हो पायी है। पुलिस ने बताया है की कुल 11 शिकायते रजिस्टर हुई है जिनमे से 7 लेफ्ट(वामपंथो)के दवारा और 3 ABVP के दवारा रजिस्टर करवाई गयी है। पर कोई भी नयी F.I.R रजिस्टर नहीं हुई है।

Aishe’s complaint:- उनके शिकायत में,JNU छात्र संगठन के प्रेजिडेंट(प्रमुख) आयशी घोष,जो फिलहाल एक शांतिपूर्ण चोटों,जख्मो से जूझ रही है,कहा की उन पर करीब 20-30 लोगो दवारा हमला किया गया जो गन्दा/बुरी भाषा का उपयोग का भी प्रयोग कर रहे थे। प्रेजिडेंट का कहना था की उनके सिर पर कई बार लोहे के रोड/डंडे से आकर्मण किया जा रहा था “मैं जमींन पर गिर गयी और मेरे सिर से खून बहना शुरू हो गया था ,उनमे से कई लोगो ने मेरे गिरने के वक्त भी लोहे के रोड/डंडे से हाथो पर मारा। “
उन्होंने बताया की एम्बुलेंस ने उन्हें जल्दी हॉस्पिटल ले गयी और दूसरे विद्यार्थीओ को कैंपस से बहार आने की मनाही कर दी गयी। आयशी घोष, ने कहा की, वह लोगो से विनती कर रही थी की एम्बुलेंस को कैंपस से बहार जाने दे।

THANK YOU…

2 thoughts on “JNU INCIDENT: DELHI UNIVERSITY STUDENTS SUPPORT JNUSU

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *