Supreme Court Advocate Raise Voice Against C.A.A & NRC

Supreme Court Advocate Terrific Oration

सुप्रीम कोर्ट के एक वकील भानु प्रताप, जो की C.A,A और NRC  के खिलाफ है उन्होंने कहा “जब C.A.A  लाते हो तो आप साथ में कहते हो आप चिंता मत करो साथ में NRC  भी आएगा। अब जब NRC भी आएगा तो डरे क्यों नही भाई । क्योंकि आपने 3.5 साल NRC  किया आसाम में और उसमे आपने 1600 करोड़ रुपये खर्च किये और इतने पैसे खर्च करने के बाद जो आपके हाथ में आया 19 लाख लोग उस NRC  से बाहर हो गए .

उसमे भी 14 से 15 लाख लोग जो गैर मुस्लिम है वो बाहर हो गए आप चाहते कुछ और थे।आप चाहते थे की मुसलमान बाहर हो जाए क्योंकि यही तो राजनीति है पर ये पास हो गया उलट निकल गये वो बाहर। और जब आप NRC  कर रहे थे तब आसाम की 3,4 करोड़ की आबादी दर दर फिर रही थी। ये कागज लाओ वो कागज लाओ वो इससे बनवाओ ये इससे बनवाओ,इसको रिश्वत दे उसको रिश्वत दे, गरीब आदमी रोजी रोटी कमाता है सुबह से शाम तक मेहनत करता है  तो भी पेट नही पाल पता. तुमने और भी लाइन में लगा दिया। तुमने नोटेबन्दी में इतने लाइन में लगवा दिए जिनमे 200 लोग मारे गए। देश को बर्बाद कर दिया। तुमने कहा था काला धन आएगा ,कोई भी काला धन नही आया बल्कि तुम जो चाह रहे थे उससे ज्यादा पैसा वापिस आ गया। पर काला धन नही आया। तो तुमने इतनी लंबी लाइन में लगाया फिर आसाम में लगाया। हमारे देश के पूर्व राष्ट्पति आदरणीय फकरुदीन साहब के परिवार के लोगो का भी NRC  में नाम नही है।जब हमारे राष्ट्पति के परिवार नागरिकता के लिए मारे मारे फिर रहे है और वो सेना का उच्च अधिकारी जो 1971 की लड़ाई में भी रहा वो भी भागा भागा फिर रहा है अपनी नागरिकता साबित करने के लिए। ये तो छोटे से उधाहरण है। वो गरीब आदमी की संख्या का तो हिसाब ही नही है जिनकी तो कोई मीडिया वाला खबर नही लेता,जिसके विषय में कोई भी प्रेस वाला रिपोर्ट नही छपता और कोई भी खबर भी लेता उनकी संख्या कितनी होगी। इसीलिए वे 19 लाख लोग बाहर निकले। जैसे दिल्ली में होता है की कच्ची कॉलोनी वालो के वोट तो ले लो पर उनको सुविधा मत दो। जब सुविधा देने की बात आयी तो कैसे दे सकते है ये तो कच्ची कॉलोनी है। तो 19 लाख लोगो की वोट तो लेली आपने अब उनको निकल कर बाहर फेक दिया। एक आदमी तड़ीपार तो दूसरे की डिग्री का पता नही ,ये क्या तामाशा है। अफसोस ये शब्द बोलने पड़ रहे है । एक आदमी जो बहुमत के साथ जीतकर आता है क्या उन्हें यह नही करना चहिये की देश में भी किसी जाति,धर्म,समुदाय के आधार पर उन्हें रोज़गार दे, उनकी सुरक्षा की व्यवस्था करनी है,उनके बच्चों के शिक्षा की व्यवस्था करनी है,किसानों और मजदूरो का खयाल रखना है, ये तुमने कहा था, ये तुम्हे करना चाहिए था। पर तुम वो कोई काम नही कर रहे। तुम बेतहर क्या कर रहे हो ,CAA  ले आये।

अच्छा पहले आदमी अपना घर सुधरता है उसके बाद ही तो बाहर की समस्या दूर करता है।अब आपके घर की क्या हालात है ,आपके घर की इतनी बुरी हालात है की हम दुनिया में भूखमरी में सबसे आगे है।शिक्षा में हम दुनिया में 300 बड़ी यूनिवर्सिटी है उनमे हमारा कोई स्थान नही है।301 पर जाकर हमारी एक यूनिवर्सिटी का नम्बर आता है। 20 करोड़ से ज्यादा लोग आज दी डेट में बेरोजगार है।कोन है वे लोग ?

ALSO READ: Is new data protection bill affecting your life?

18 साल से लेकर के 35 साल का जवान। जिसे तुम कहते हो युवा भारत,जो तुम्हे वोट देता है। जो लोग बेरोजगार है उनके विषय में चिंता करोगे तुम या उन लोगो के चिंता करके कह रहे हो की यहां ये होता तो ये सम्भव हो जाएगा।आप ही ने कहा था बेटी पढ़ाओ और बेटी बचाओ ,आप ही का नारा था पर आप ही के मंत्री,एम,एल,ए बहु-बेटियो का बलात्कार कर रहे है। क्योंकी आपके विधायक और एम,पी जो आपकी पार्टी2 में है उनमे से 30% आपराधिक मामलो में लिप्त है। जिनपर रेप के,हत्या के ,चोरी के,डकैती के मुकदमे चल रहे है। तो सरकार कैसी है आपकी ,क्या काम करने है आपको ? जो काम करने थे वो काम नही किया।जब हम कहते है हम विश्व गुरु बनेगे तो गुरु क्या अनपढ़ बनेगा या कम पढ़ालिखा बनेगा ?गुरु तो पढ़ा-लिखा ही बनेगा।और तुमने निजीकरण से शिक्षा का बेरा-गर्ग कर दिया । सरकारी स्कूलों की शिक्षा को तुमने खत्म कर दिया और जो तुमने नई शिक्षा पर नीतिया लायी है जिसमे अगर कॉलेजो को पैसे का इंतजा स्वयम करना पड़ेगा। मतलब आपने उनको निजी हातो में दे दिया।आपका काम क्या था ? आपका काम था सरकारी स्कूलों को बेहतर बनाना। अगर शिक्षा होगी तो कोई भी देश तरक्की करेगा। जितनी ज्यादा शिक्षा उतनी ही ज्यादा रोज़गार,उतनी ही ज्यादा भुखमरी से छुट्टी मिलेगी पर तुमने शिक्षा का बेरा-गर्ग करके रख दिया । क्यों? क्योंकि तुम चाहते हो की लोग बेरोजगारी बने रहे,अनपढ़ बने रहे,अशिक्षित रहे, ताकि तुम अपनी मर्जी से लोगो को चला सको। तो जो जरूर काम थे वो आपने नही किये । आपने वो काम किये जो लोगो को बेरोज़गारी की तरह ले जाए। और एक चीज़ और की आप लोगो को रोज़गार दे नही सके और आप लोगो से रोज़गार लिए जा रहे हो। Bsnl,mtnl  जिसमें लगभग 2 लाख कर्मचारि है उनमे से 1.25 लाख कर्मचारी निकलने की आपकी तैयारी है। इस सरकार ने ज्यातर सार्वजनिक कंपनी नही बनाया पर इसे बेचने पर तुली हुई है। आजकल सरकार का ख़र्चा 50% बढ़ गया है । रोज़गार तूने दिया नही,शिक्षा तुम ले रहे हो, काम तुम्हें किया नही और तुम्हारी किस बात की खर्च बढ़ गए है । j.n.u  में शिक्षा बजट कितना है 410 करोड़ रुपये और तुम्हारा खुद का चेहरा दिखने(पोस्टर प्रमोशन) का बजट 1100 करोड़ रुपये है।और अब वो चौकीदार अब लेकर आया C.A.A ।मतलब जो लोग पाकिस्तान,अफगानिस्तान,बाग्लादेश में धर्म के आधार पर प्रताड़ित होंगे उन्है नागरिकता दोगे। यह अच्छी बात पर आप मुसलमान को क्यों छोड़ रहे हो। जो अहमदिया,सुन्नी मुस्लिम उनका क्या करोगे? और ये तीन ही क्यों. हमारे पड़ोसी तो भूटान,श्रीलंका,नेपाल भी है। श्रीलंका मद तमिल, उनके साथ कितने समय से अत्याचार हो रहे है। जो कब से नागरिकता के लिए तरस रहे है उन्हें क्यों नही दे रहे हो। दुनिया में सबसे ज्यादा प्रताड़ित कोई लोग है तो वे है बर्मा से आये हुए रोहिंग्या। तो उन्हें क्यों छोड़ रहे हो।चलो मान लेते है की आप इन्हें नागरिकता दे रहे हो तो इन तीन देशो में से क्या आपके पास कोई सबूत है, क्या आपने कोई सर्वे करवाया है की यह लोग सबसे ज्यादा धर्म के आधार पर प्रताड़ित है। क्या तुमने इन तीनो देशो के सरकार से बात की। क्या तुमने इन सरकारों को कहा की तुम्हारे देश में धार्मिक आधार पर आत्याचार हो रहे है। क्या आपने किसी अंतरराष्ट्रीय मंच पर आवाज़ उठायी। आपने न तो  U.N, EUROPEAN UNION, HUMAN RIGHT  किसी में भी आवाज़ नही उठायी।

Supreme Court Advocate Raise Voice Against C.A.A & NRC

  • सच्चई यह की जो 15 लाख लोग NRC आसाम में बाहर है उनको यह नागरिकता देनी है।दूसरा आपको देश को हिन्दू-मुस्लिम में बाटना है।
  • तीसरा आप रोज़गार,शिक्षा,किसानो को दोगुनी आय देनी थी उन सब में आप फैल रहे।
  • 15 लाख रुपये अभी तक बैंक में नही आये।
  • इसी तरह से 2 करोड़ रोज़गार देने की बात कही पर कुछ नही मिला।
  • और इन सारी चीज़ों पर आप लोगो का धयान न जाए इसीलिए C.A.A ,NRC  लायी गयी है।अब NRC, सरकार कहती है की 1971 के पहले का अपने बाप,दादाओ के रहने का प्रमाण पत्र ले कर आओ तो बताओ कोई ले आएगा। अरे पढ़ा लिखा नही ला सकता तो अनपढ़ कहाँ से लाएगा ।
  • अरे इस देश को आधी आबादी तो अनपढ़ की है।
  • और क्यों लाकर दे होते कोन हो तुम? ये हमारा देश है तुम्हारे बाप का नही है। 

THANK YOU…

16 thoughts on “Supreme Court Advocate Raise Voice Against C.A.A & NRC

  • Pingback:Security Agencies In INDIA Explained - societykarma

  • Pingback:Is new data protection bill affecting your life? - societykarma

  • Pingback:How does cryptocurrency works(beginner to expert)? - societykarma

  • Pingback:What is the Rupay Card? Explained Everything Steps By Step -

  • Pingback:India: the inadequate economy is a cyclical phenomenon? - societykarma

  • Pingback:JNU INCIDENT: DELHI UNIVERSITY STUDENTS SUPPORT JNUSU

  • May 9, 2020 at 9:25 pm
    Permalink

    I would like to convey my love for your generosity supporting persons that must have guidance on this idea. Your special commitment to getting the message along had become astonishingly significant and has continuously permitted guys much like me to attain their targets. Your personal invaluable help means so much a person like me and substantially more to my fellow workers. Many thanks; from all of us.

    Reply
  • May 13, 2020 at 1:12 am
    Permalink

    Thanks for your entire effort on this web site. Gloria really loves managing internet research and it is easy to understand why. A lot of people notice all regarding the lively tactic you create important tricks on this web site and encourage response from people on this issue then our favorite daughter is discovering so much. Have fun with the rest of the year. You’re carrying out a fantastic job.

    Reply
  • May 16, 2020 at 5:18 am
    Permalink

    I am just writing to let you know what a helpful discovery our daughter obtained browsing the blog. She picked up such a lot of issues, not to mention what it’s like to have an excellent coaching mood to let folks easily learn some tortuous subject matter. You truly surpassed our expected results. Many thanks for coming up with such informative, dependable, edifying and easy tips on that topic to Kate.

    Reply
  • May 19, 2020 at 5:23 pm
    Permalink

    I am also writing to let you be aware of of the impressive discovery our girl encountered visiting your blog. She learned a wide variety of details, not to mention what it’s like to possess an excellent coaching character to make other individuals very easily know just exactly specified tortuous subject areas. You really did more than our own expected results. Thank you for imparting these informative, safe, informative and in addition easy guidance on your topic to Ethel.

    Reply
  • May 22, 2020 at 4:00 am
    Permalink

    Thank you so much for giving everyone an exceptionally spectacular opportunity to read from this blog. It’s usually very good plus full of amusement for me personally and my office colleagues to search your web site not less than thrice per week to read the new tips you will have. And of course, I’m also always fascinated with the excellent tips and hints served by you. Selected 2 facts in this post are particularly the best we have all had.

    Reply
  • May 27, 2020 at 4:07 am
    Permalink

    I as well as my guys were checking the good helpful tips on your website and so before long I had an awful suspicion I had not expressed respect to the website owner for those techniques. These men are actually totally happy to read through all of them and now have unquestionably been loving those things. I appreciate you for actually being very considerate and for using variety of helpful resources most people are really needing to be aware of. Our own honest apologies for not expressing gratitude to you earlier.

    Reply
  • May 29, 2020 at 9:21 am
    Permalink

    I am glad for commenting to let you understand what a notable experience my wife’s princess found visiting the blog. She discovered numerous details, not to mention how it is like to possess a very effective giving nature to let men and women effortlessly know just exactly selected tortuous topics. You really did more than readers’ desires. Thanks for delivering such warm and helpful, trusted, educational not to mention fun tips on this topic to Kate.

    Reply
  • June 1, 2020 at 4:38 am
    Permalink

    I simply wanted to say thanks again. I do not know the things that I would’ve accomplished without those techniques discussed by you directly on such situation. Certainly was a real scary problem in my circumstances, nevertheless coming across the specialized technique you dealt with the issue made me to weep for happiness. I’m happy for the support and even trust you really know what a powerful job you are providing instructing some other people through your web page. More than likely you have never encountered all of us.

    Reply
  • June 3, 2020 at 6:48 am
    Permalink

    I have to point out my admiration for your generosity for men who must have help on the area. Your very own dedication to getting the solution all around came to be exceedingly important and have usually helped associates just like me to achieve their dreams. Your own warm and friendly recommendations indicates this much to me and still more to my office workers. Thanks a lot; from everyone of us.

    Reply
  • June 5, 2020 at 9:12 am
    Permalink

    I precisely wanted to thank you very much all over again. I am not sure the things that I might have implemented without the actual advice revealed by you about this subject. It had been the hard crisis in my opinion, but looking at the specialized approach you handled it took me to leap with contentment. Now i’m happier for your advice and thus believe you know what a great job you were doing instructing people today through the use of your website. More than likely you’ve never met any of us.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *